खुश कैसे रहें (How to be happy in life)

0
1634
views

वर्तमान समय में लोग जो भी काम करते हैं उसके पीछे मकसद सिर्फ खुशी ही होता है। पूरी जिंदगी लोग खुशी की तलाश में गुजार देते हैं पर फिर भी वह खुश नहीं रह पाते हैं। जिंदगी में सबकुछ होते हुए भी कुछ न कुछ कमी सी महसूस होती है। और यह कमी कुछ और नहीं बल्कि खुशी का अभाव ही है। अगर जिंदगी में खुशी ही नहीं है तो सारी सुख सुविधाएं आदि सब कुछ व्यर्थ है। अतः अपने जीवन के अनुभवों के आधार पर मैं यहाँ कुछ बातें आप लोगों के साथ शेयर कर रही हूं।

1. खुद के साथ समय बिताएं – अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में हम न जाने कितने ही जाने – अनजाने लोगों से मिलते हैं। उनके साथ समय भी व्यतीत करते हैं। और इन्हीं मुलाकातों के चलते हम खुद को भूल जाते हैं। इसलिए रोज अपने व्यस्त समय में से थोड़ा वक्त खुद के लिए भी निकालिए। खुद से मुलाकात करिए। खुद को समझिए।

” खुद से भी मुलाकात कर लिया करिए कभी-कभी, कुछ रौनकें तो खुद से भी हुआ करती हैं  “

2. अपनी खुशी के लिए दूसरों पर निर्भर न रहें – अक्सर लोग अपनी खुशी के लिए दूसरों से उम्मीद लगा लेते हैं और यदि वे उम्मीदें पूरी नहीं होती तो दुखी हो जाते हैं। इसलिए जितना हो सके अपनी खुशियों के लिए दूसरों पर निर्भर न रहें बल्कि खुद में ही खुश रहें।

” अपनी खुशियों की चाबी दूसरों के हाथ में देना दुखी रहने का सबसे बड़ा कारण है। “

3. वर्तमान में जिएं – खुश रहने का सबसे आसान तरीका है वर्तमान में जिएं। हम अपने अतीत तथा आने वाले कल में इतना खो जाते हैं कि अपने आप को ही भूल जाते हैं। पर हमें एक बात जरूर याद रखनी चाहिए कि हम अपने आने वाले कल का निर्माण बीते हुए कल में जाकर कभी नहीं कर सकते। उसके लिए हमें अपने आज यानी वर्तमान समय में ही जीना होगा। जिससे हम अपने वर्तमान व भविष्य में खुश रह सकें।

“जिदंगी का हर लम्हा खूबसूरत होता है, बस जरूरत होती है उस लम्हे को खुलकर जीने की। “

4. सबसे बड़ा रोग क्या कहेंगे लोग – ज्यादातर लोग दूसरों की बातों को अधिक महत्व देते हैं। और यही सोचते हैं कि लोग क्या कहेंगे। दोस्तों अगर हम दूसरों  के कहने पर निर्भर रहकर अपनी जिंदगी जिएंगे तो कभी खुश नहीं रह पाएंगे। अतः लोग क्या कहेंगे ये सोचना छोड़कर सिर्फ अपनी खुशियों की परवाह करें।

“खुशियों का कोई रास्ता नहीं है, बल्कि खुश रहना ही एक रास्ता है।”

5. खुशी को चुनिए – अपने जीवन में खुश रहने के लिए सबसे पहले हमें खुशी का चुनाव करना होगा। हमारे सामने बहुत सारी भावनाएँ रहती हैं जैसे – दुख, क्रोध, नफरत, प्यार, खुशी। इन सभी में से हमें खुशी का चुनाव करना होगा। जिस पल हमनें खुशी को चुन लिया समझिए उसी पल हमारी जिंदगी खुशनुमा बन जाएगी। हमें छोटी-छोटी बातों को दरकिनार करके खुशी को अपनाना होगा। खुश रहने का यही सबसे अच्छा उपाय है।

” इतना खुश रहिये कि ज़िंदगी भी आपको परेशान करते – करते थक जाए। “

मुझे उम्मीद है दोस्तों आप सभी को यह आर्टिकल जरूर पसंद आया होगा। तो अपने जीवन में खुश रहिये और अपने जीवन का भरपूर आनंद लें।

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here